अपनी Diet को लेकर भी आपके मन में हैं ये Myth? इस तरह से लें सही जानकारी

Spread the love

नई दिल्ली: हम अपनी लाइफस्टाइल (Lifestyle) को अपने शरीर के हिसाब से ढाल लेते हैं, जिससे कई बार नुकसान भी उठाना पड़ता है. अपने जीवन में हम सबसे ज्यादा मोटापे (Fat) को लेकर परेशान रहते हैं. मोटापा कम करने के लिए कई तरह के उपाय भी करते हैं, लेकिन कई ऐसी चीजें होती है जो हमें असमंजस (Doubt) में डाल देती है. आज हम आपको डाइट (Diet) से जुड़े कुछ ऐसे ही मिथकों (Myth) के बारे में जानकारी देंगे, जिससे आपको चीजें समझने में आसानी होगी.

पहला मिथक : अगर आपका वजन बढ़ना आनुवांशिक (Genetic) है, तो इस बात से कुछ फर्क नहीं पड़ता कि आप क्या खाते हैं.
तथ्य : यह सच है कि वजन बढ़ने और शरीर की बनावट में जीन की महत्तवपूर्ण भूमिका होती है. लेकिन आप सिर्फ ये कहकर अपना पीछा नहीं छुड़ा सकते कि आपके माता-पिता का वजन ज्यादा है, तो आपका वजन ज्यादा होगा ही. शरीर के आकार और मेटाबॉलिज्म (Metabolism) का अध्ययन करें. इसके बाद अपने व्यायाम और खानपान में परिवर्तन के द्वारा आदर्श वजन प्राप्त करने की कोशिश करें.

दूसरा मिथक : वजन (Weight) कम होने का मतलब है कि आपके शरीर में कुछ फूड ग्रुप की कमी हो रही है.
तथ्य : वर्तमान में डाइट में बदलाव करने से आप कुछ विशेष फूड ग्रुप को शरीर से अलग कर सकते हैं. यह बेहद अलाभकारी ट्रेंड है. शरीर को ऊर्जावान और पोषक बनाए रखने के लिए आपके शरीर को बैलेंस डाइट की आवश्यकता होती है. शरीर के पोषण, रिपेयर और मेंटीनेंस के लिए आपको पानी, विटामिन, कार्बोहाइड्रेट, फैट, खनिज और प्रोटीन की आवश्यकता होती है. एक पूरी डाइट में फल, सब्जियां, अनाज, मूंगफली, अंकुरित खाद्य पदार्थ और कम वसा वाले डेयरी उत्पाद होते हैं. यह आपके इम्यून सिस्टम को मजबूत करते हैं और आप आदर्श वजन प्राप्त कर सकते है.

तीसरा मिथक : आपका आदर्श वजन उतना है, जिसको देखकर आप पतली लगे
तथ्य : स्वस्थ खान-पान का मतलब यह नहीं है कि आप खुद को पतला दिखाने के लिए भूखी रहे. आपके शरीर का आदर्श वजन कुछ बातों जैसे लाइफस्टाइल, लंबाई, उम्र, लिंग और जीन पर निर्भर करता है. स्वस्थ रहने के लिए जरूरी है कि आप खान-पान बेहतर करें और लगातार व्यायाम करें. लेकिन इसके लिए अपनी क्षमता से ज्यादा कुछ न करें.

ये भी पढ़ें, स्वस्थ रहने के लिए पानी पीने के इन नियमों का रखें ध्यान, नहीं तो हो सकती मुश्किल 

चौथा मिथक : स्वस्थ खाना मजेदार नहीं होता है
तथ्य : स्वस्थ खाने कभी मजेदार नहीं होते. वर्तमान में कई हेल्थ स्टोर, खुद को स्वस्थ रखने की किताबें और रेसिपी है. जो कि आपको स्वस्थ रखने में मददगार होती है. कुकिंग के तरीकों को बेहतर बनाने का प्रयास करें, ताकि खाना लजीज बन सकें. 

सेहत की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

LIVE TV




Source link

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *