आर्थराइटिस से रहते हैं परेशान? इस योग से मिलेगा जल्द फायदा

Spread the love

नई दिल्ली: दर्द, अकड़न और जोड़ों में सूजन जैसी बीमारियां अर्थराइटिस के ही लक्षण (Arthritis Symptom) हैं. यह स्थिति किसी भी व्यक्ति के लिए काफी तकलीफदेह होती है क्योंकि इस दौरान उसे असहनीय दर्द से गुजरना पड़ता है. लेकिन, इसके बावजूद यह राहत की बात है कि यदि इसका इलाज समय रहते शुरू कर लिया जाए तो कोई भी व्यक्ति इससे निजात पा सकता है. रोजाना योग (Yoga) के इन आसनों का अभ्यास आर्थराइटिस (Arthritis) जैसी बीमारी से छुटकारा दिलाने में मदद करेगा.

मलासन
मलासन को करने से एड़ियों, घुटनों और जांघों को मजबूती मिलती है. लेकिन इस बात का ध्यान रखें कि शुरुआत में इस आसन को केवल 60 सेकंड के तक करना चाहिए.

मक्रासन
मक्रासन करने से पैरों की मांसपेशियों को मजबूती मिलती है जिससे घुटनों के दर्द से आराम मिलता है. इस आसन को करने के लिए पेट का खाली होना जरूरी नहीं है. मक्रासन को दो से पांच मिनट तक किया जा सकता है. 

मक्रासन करने की विधि
पेट के बल लेट जाएं, ठोड़ी, छाती एवं पेट जमीन से स्पर्श होते रहें. पैरों के बीच में अपने योग मैट के बराबर दूरी बनाएं. अब आप सिर को उठाएं और दोनों हाथों को गाल पर रखें. धीरे धीरे दोनों पैरों को नीचे से ऊपर अपने हिप्स की ओर लेकर आएं और फिर धीरे-धीरे नीचे लेकर जाएं. इसी तरह से करीब दस बार इस आसन का अभ्यास करें.

ये भी पढ़ें, अगर शरीर में दिखाई दे ये लक्षण तो समझ जाएं आपको है डायबिटीज, न करें नजरअंदाज

वीरासन
इस आसन को करने से पैरों में खून का संचरण तेजी से होने लगता है जिससे घुटनों और जांघों की मांसपेशियों का कड़ापन खत्म होता है और दर्द से आराम मिलता है. सुबह के समय वीरासन को करने के फायदे ज्यादा मिलते हैं. इसके साथ ही वीरासन को करते समय खाली पेट होना जरूरी नहीं है.

वीरासन करने की विधि 
समतल भूमि पर आसन बिछाकर वज्रासन की स्थिति में बैठ जाएं. अर्थात, घुटनों को मोड़कर बैठ जाएं. अब दोनों पैरों को थोड़ा फैलाएं और हिप्स को भूमि पर टिकाकर सीध में रखें. अब दोनों हाथों को घुटनों पर सीधा तानकर रखें. कंधों को आराम की मुद्रा में रखें और तनकर बैठें. सिर को सीधा रखें और सामने की ओर देखें. इस मुद्रा में 30 सेकेंड से 1 मिनट तक बने रहें.

सेहत की अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

(नोट: कोई भी उपाय करने से पहले डॉक्टर्स की सलाह जरूर लें) 




Source link

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *