कभी-कभी स्किन पर कैस्‍टर ऑयल यूज करना हो सकता है नुकसानदायक, जानिए क्‍यों

Spread the love

 

अरंडी का तेल सदियों से मिस्र की महिलाओं की ब्‍यूटी किट का एक हिस्सा रहा है। पर अभी कुछ वर्षों में ही इस बेमिसाल ऑयल ने पूरी दुनिया का ध्‍यान अपनी ओर खींच लिया है। पलकों और बालों के विकास को बढ़ाने से लेकर गर्भवती महिलाओं के लिए एक शक्तिशाली रेचक (laxative) के रूप में इस्तेमाल किया जा रहा है। इस पीले रंग के चमत्कारिक तेल में और भी बहुत कुछ है।

 

वर्षों से, कैस्टर ऑयल ने स्किन केयर में अपने साइंस अप्रूव्‍ड गुणों के कारण खूब प्रसिद्धि‍ हासिल की है। पर इसके साथ ही सवाल यह भी उठता है कि क्‍या इसका इस्‍तेमाल त्‍वचा पर करना भी उतना ही फायदेमंद हो सकता है? इससे पहले कि हम इस पर बात करें, कैस्‍टर ऑयल यानी अरंडी के तेल के बारे में कुछ पॉजिटिव जान लें।

 

नमी को रिस्‍टोर करता है

कैस्टर ऑयल एक प्राकृतिक हमेक्टेंट है, जिसका अर्थ है कि त्वचा में हवा से नमी को आकर्षित कर सकता है, जिससे त्वचा हाइड्रेटेड रहती है। फार्मा कोग्नोसी रिसर्च में बताए गए एक अध्ययन के अनुसार, यह त्वचा की बाहरी परत के माध्यम से पानी के नुकसान को रोककर नमी को बनाए रखता है।

 

 

इसके उच्च तैलीय तत्‍व के कारण, कैस्टर ऑयल त्वचा पर एक मोटी सुरक्षात्मक परत बनाता है। जिससे नमी आपकी स्किन में लॉक हो जाती है। इसका स्‍पष्‍ट अर्थ है कि कैस्‍टर ऑयल आपकी स्किन को कोमल और मुलायम बनाए रखता है।

 

मुहांसों से लड़ता है

कैस्टर ऑयल एंटी माइक्रोबियल और एंटी इन्फ्लेमेटरी गुणों को समेटे हुए है, जिसका मतलब है कि यह मुहांसों, ब्लैकहेड्स और पस से भरे पिंपल्स का मुकाबला करने में कामयाब है।

 

स्किन एजिंग को रोकता है

यह फैटी एसिड से भरपूर होता है। इसीलिए अपनी त्वचा पर जब आप कैस्टर ऑयल यूज करती हैं, तो यह आपको फाइन लाइन और झुर्रियों से बचाता है।

 

castor-oil

 

कैस्टर ऑयल के इतने सारे गुणों को जान लेने के बाद निश्चित ही आप भी इसकी दीवानी हो गई होंगी। पर इससे पहले कि आप इसे अपनी ब्‍यूटी केयर रूटीन का हिस्सा बनाए इसके बारे में कुछ और बातें भी जान लेना जरूरी है। स्किनकेयर के लिए वन साइज फिट फोर एवरीवन जैसा कोई फॉर्मूला नहीं है। एक ही प्रोडक्‍ट जो आपकी दोस्‍त के लिए अच्‍छा काम करता है, जरूरी नहीं कि आप को भी सूट करे।

 

क्‍यों कुछ लोगों को सूट नहीं करता कैस्टर ऑयल

यह कोई मामूली बात नहीं है, बल्कि त्वचा विशेषज्ञ भी इस तथ्‍य को स्‍वीकार करते हैं। काया स्किनकेयर लिमिटेड मेडिकल ऑपरेशन के प्रमुख डॉक्टर सुशांत शेट्टी कहते हैं, ” कुछ लोग कैस्टर ऑयल के उपयोग के कारण त्वचा में जलन की शिकायत करते हैं। खासकर जब वे त्वचा संबंधी किसी समस्‍या का सामना कर रहे हों। जैसे डरमेटाइटिस या संवेदनशील त्वचा।

 

इसके अलावा, कैस्टर ऑयल में मौजूद वसा की मात्रा कुछ लोगों की स्किन के लिए फायदेमंद होती है, तो कुछ को यह नुकसान पहुंचाती है।

डॉ शेट्टी कहती है, “कैस्टर ऑयल काफ़ी गाढ़ा होता है, जिससे आपके पोर्स बंद होने का खतरा रहता है। कहने की जरूरत नहीं कि इससे मुहांसे भी हो सकते हैं। कुछ लोगों की स्किन ऑयली होती है। उस पर तेल की यह एक्‍स्‍ट्रा परत पसीने और डर्ट को आकर्षित कर सकती है। आप जानती हैं कि ये दोनों ही स्किन के लिए अच्छे नहीं हैं।

 

पर एक समाधान है

अगर आपको कैस्‍टर ऑयल सूट नहीं कर रहा, तो डॉ शेट्टी इसके लिए एक उपाय बताते हैं: बादाम के तेल की कुछ बूंदों के साथ कैस्टर ऑयल को मिक्‍स करके पतला करें। इसके अलावा आप कैस्‍टर ऑयल लगाने के कुछ घंटों बाद तेल कि परत को धो लें। ताकि रोम छिद्र बंद न हो सकें।

 




Source link

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *