जानिए कैसे काली किशमिश या मुनक्‍का का पानी है गर्भधारण के लिए फायदेमंद

Spread the love

महिलाओं में प्रजनन क्षमता का कम होना और गर्भधारण न कर पाने की समस्या काफी तेजी से बढ़ रही है। आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में अपनी खराब जीवन शैली के चलते हम अपने खानपान पर खास ध्यान नहीं दे पाते हैं। जिसके चलते हमारे शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है। जिससे हम कई तरह की स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं के शिकार होने लगते हैं। प्रजनन क्षमता कम होने की समस्या महिला व पुरुष दोनों को हो सकती है।

हालांकि, इसके लिए कई कारण जिम्मेदार हो सकते हैं। लेकिन हमारे पास कुछ ऐसा है जो इस समस्या से राहत पाने में आपकी कुछ मदद कर सकता है। वह है काली किशमिश (Black Raisins) या मुनक्‍का (Munakka)।

क्या आप जानती हैं कि काली किशमिश या मुनक्का आपकी बांझपन (Infertility) की समस्या को दूर करने में मदद कर सकता है, और गर्भधारण में मददगार हो सकता है। चलिए बिना देर किए हम आपको बताते हैं कि कैसे काली किशमिश या इसका पानी गर्भधारण में आपकी मदद कर सकता है।

 

 

क्या है बांझपन का कारण

महिलाओं में गर्भधारण न कर पाने की समस्या का एक मुख्य कारण प्रजनन क्षमता का कम होना या बांझपन है। जिसके लिए कई कारक जिम्मेदार हो सकते हैं। जिसमें आपका खानपान और कुछ अन्य कारक शामिल हैं।

महिलाओं के शरीर में हार्मोनल संतुलन प्रजनन क्षमता के कम होने का एक महत्वपूर्ण कारण है। कई महिलाओं में अंडे समय पर नहीं बनते हैं। साथ ही उनका ओवुलेशन भी समय पर नहीं हो पाता है। कुछ का ओवुलेशन समय पर होता तो है, लेकिन ठीक से नहीं हो पाता। कई महिलाओं में अंडाशय में अंडे बनते तो हैं, लेकिन उनकी गुणवत्ता सही नहीं होती है।

 

यह भी पढ़ें:सी-सेक्शन डिलीवरी के बारे में प्रचलित इन मिथ्‍स को आज ही से भूल जाएं, एक्‍सपर्ट बता रहे हैं सच्‍चाई

 

इसके अलावा इन दिनों महिलाओं में पीरियड्स की समस्या बहुत आम है। उन्हें समय पर पीरियड्स नहीं होते हैं, साथ ही अगर पीरियड्स होते भी हैं तो ठीक से नहीं होते हैं। इसके अलावा कई ऐसी स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं भी हैं जिनके कारण महिलाओं की प्रजनन क्षमता में कमी आती है। और वह गर्भधारण नहीं कर पाती।

 

गर्भधारण के लिए कैसे फायदेमंद है काली किशमिश का पानी

काली किशमिश का पानी आपकी प्रजनन क्षमता को बढ़ाने और गर्भधारण की समस्या से राहत पाने में आपके लिए मददगार साबित हो सकता है। क्योंकि काली किशमिश के पानी में सोडियम, पोटेशियम, कार्बोहाइड्रेट, फाइबर, प्रोटीन, विटामिन-ई, सी, कैल्शियम, आयरन, विटामिन-डी, मैग्नीशियम, जिंक, एंटिऑक्सीडेंट्स समेत कई तरह के पोषक तत्व मौजूद होते हैं।

 

काली किशमिश आपकी शारीरिक कमियों को दूर करने के लिए बेहद फायदेमंद हैं। यह य़ह आपके प्रजनन की क्षमता को बेहतर बनाने में भी मदद करता है, और इसके नियमित सेवन से आप गर्भधारण कर पाने में भी सक्षम हो सकती हैं।

 

infertility

 

कैसै कर सकते हैं इस्तेमाल

  • रात में सोते समय 5-7 काली किशिमिश को एक कप पानी में भिगो दें।
  • इसे रात भर के लिए छोड़े दें।
  • सुबह उठकर खाली पेट किशमिश के पानी का सेवन करें।
  • जो मुनक्के आपने भिगोए थे आप उन्हें दिन में किसी भी समय खा सकती हैं।

ऐसा रोजाना नियमित रूप से करने से आपकी प्रजनन की क्षमता में सुधार होगा और आप जल्दी गर्भधारण करने में मदद मिलेगी।

यह भी पढ़ें: क्‍या गर्भधारण के लिए हेल्‍दी सीजन है विंटर सीजन? जानिए क्या कहता है साइंस

 

यह भी ध्‍यान रहे

गर्भधारण के लिए किशमिश के पानी का सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से परामर्श लेना जरूरी है। क्योंकि वह आपको आपकी समस्या के अनुसार इसका सेवन करने की सलाह बेहतर दे सकते हैं। क्योंकि कई बार इसका सेवन अधिक करने से आपको स्वास्थ्य संबंधी परेशानी भी हो सकती है। इसलिए पहले अपने डॉक्टर से परामर्श जरूर लें।

 


Source link

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *