मिठास के लिए चीनी छोड़िए, इन हेल्दी और नैचरल विकल्पों का करें इस्तेमाल

Spread the love

नई दिल्ली: नमक (Salt) की ही तरह चीनी (Sugar) भी हमारी डाइट का अभिन्न हिस्सा है और मिठास के बिना हमारा भोजन अधूरा माना जाता है. लेकिन आमतौर पर घरों में इस्तेमाल होने वाली सफेद रिफाइंड चीनी (Refined Sugar) सेहत के लिए अच्छी नहीं मानी जाती. इस चीनी का अधिक सेवन करने की वजह से डायबिटीज (Diabetes), मोटापा (Obesity), हृदय रोग (Heart Disease), कई तरह के कैंसर (Cancer) जैसी गंभीर बीमारियां और दांतों में सड़न (Tooth Decay) की भी दिक्कत हो सकती है. यही कारण है कि इन दिनों मार्केट में आर्टिफिशियल स्वीटनर्स की भरमार हो गई है. 

चीनी और आर्टिफिशियल स्वीटनर दोनों है नुकसानदेह

लेकिन आर्टिफिशियल स्वीटनर्स (Artificial Sweetner) भी सेहत के लिए कहीं से भी फायदेमंद नहीं होते. इनके भी कई साइड इफेक्ट्स हैं जैसे- वजन बढ़ना, ब्रेन में ट्यूमर (Brain Tumour) की समस्या, ब्लैडर में कैंसर (Bladder Cancer) आदि. ऐसे में बिना किसी फाइबर या प्रोटीन के हाई कैलोरीज से युक्त चीनी हो या फिर मार्केट में मिलने वाले आर्टिफिशियल स्वीटनर ये दोनों ही सेहत के लिए कई तरह से नुकसानदेह हैं. लिहाजा स्वस्थ रहने के लिए मीठा छोड़ने की जरूरत नहीं है बल्कि मिठास के लिए चीनी की जगह उन नैचरल विकल्पों (Natural Substitute) का इस्तेमाल करना हैं जो सेहत के लिए फायदेमंद हैं.

ये भी पढ़ें- बार-बार मीठा खाने का मन करता है, चॉकलेट-केक की बजाए ये चीजें खाएं

इन नैचरल विकल्पों का करें चुनाव

1. गुड़- मिठास के लिए गुड़ (Jaggery) का इस्तेमाल करें क्योंकि गुड़ पाचन के लिए, अस्थमा के लिए और सर्दी-खांसी से राहत दिलाने के लिए भी फायदेमंद माना जाता है. गुड़ में मिनरल्स और विटामिन्स के साथ ही आयरन, कैल्शियम, जिंक आदि भी पाया जाता है जो खून में हीमोग्लोबिन के लेवल को बढ़ाने में मदद करता है. इसलिए एनीमिया के मरीज भी गुड़ खा सकते हैं और इम्यूनिटी बढ़ाने में भी मदद करता है गुड़. लिहाजा चीनी की जगह गुड़ का सेवन करें.

2. शहद- शहद (Honey) को हेल्दी और सुपरफूड की कैटिगरी में रखा जाता है. विटामिन बी6, जिंक, आयरन, पोटैशियम, एंटीऑक्सिडेंट्स जैसे कई न्यूट्रिएंट्स से भरपूर होता है शहद जो पाचन को बेहतर बनाने में मदद करता है और इम्यूनिटी को भी स्ट्रॉन्ग बनाता है. साथ ही 1 चम्मच शहद में सिर्फ 64 कैलोरीज होती है. इसलिए वेट लॉस के लिए भी यह फायदेमंद है. मिठास के लिए चीनी की जगह शहद का इस्तेमाल कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें- शुगर की बीमारी को जड़ से खत्म करने के आसान और घरेलू उपाय

3. खजूर- मैग्नीशियम, आयरन, पोटैशियम आदि से भरपूर खजूर (Dates) जिसे डेट्स भी कहते हैं खाने में बेहद टेस्टी होता है और पोषक तत्वों से भरपूर होने के कारण हेल्दी भी. खजूर कार्ब्स, फैट और प्रोटीन को अवशोषित करने और उन्हें पचाने में भी मदद करता है. साथ ही खून में कोलेस्ट्रॉल के लेवल को भी कम करने में मदद करता है खजूर. इसलिए आप चाहें तो अपने भोजन में मिठास के तौर पर खजूर को शामिल कर सकते हैं.

4. कोकोनट शुगर- नारियल पानी, नारियल का दूध, नारियल का तेल इन सारी चीजों का इस्तेमाल तो आपने भी जरूर किया होगा लेकिन इन दिनों एक और चीज काफी फेमस हो गई है और वो है कोरोनट शुगर (Coconut Sugar). यह सबसे बेस्ट नैचरल स्वीटनर माना जाता है. इसका ग्लाइसिमिक इंडेक्स कम होता है और यह मिनरल्स से भी भरपूर होता है. नारियल के रस से कोकोनट शुगर तैयार की जाती है और इन दिनों मार्केट में कोकोनट शुगर आसानी से मिल जाती है.

5. स्टीविया- स्टीविया (Stevia) एक नैचरल स्वीनटर है और स्टीविया शुगर को स्टीविया रेबॉडिआना नाम के पौधे की पत्तियों से प्राप्त किया जाता है. 1500 साल पहले से दक्षिण अमेरिका के लोग स्टीविया के पौधे का मिठास के तौर पर इस्तेमाल करते रहे हैं. स्टीविया में जीरो कार्बोहाइड्रेट, जीरो कैलोरीज होती हैं और बाकी के आर्टिफिशियल स्वीटनर की तरह स्टीविया के कोई साइड इफेक्ट्स भी नहीं होते.

सेहत से जुड़े अन्य लेख पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें.




Source link

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *