वो पांच नुस्खे जो आपके लंग्स को हमेशा रखेंगे फिट और हेल्दी

Spread the love

नई दिल्ली: सर्दी के दिनों में न केवल सर्दी-खांसी का खतरा बढ़ जाता है, बल्कि वायु प्रदूषण से दिल और फेफड़ों को भी नुकसान पहुंचता है. इन दिनों हवा की गुणवत्ता बेहद ख़राब हो जाती है और इससे सांस संबंधी बीमारियां दस्तक देती हैं. एक्सपर्ट की मानें तो सर्दी के दिनों में वायु प्रदूषण से फेफड़े और दिल को अधिक नुकसान पहुंचता है.

ये भी पढ़ें- बेरहम पति; पत्नी को पीटा, गला दबाया विरोध किया तो दांतों से काट अलग कर दी उसकी जुबान

कोरोना टाइम चल रहा है इस कारण दिल और सांस संबंधी तकलीफों से जूझ रहे लोगों को खतरा अधिक रहता है. इसके लिए जरूरी है कि हमेशा मास्क पहनकर घर से बाहर निकलें. रोजाना योग जरूर करें. आप भी सर्दी के दिनों में फेफड़ों को स्वस्थ और साफ़ रखने चाहते हैं, तो इन टिप्स को जरूर अपनाएं.

ऑयल पुलिंग करें
फेफड़ों को स्वस्थ रखने के लिए ऑयल पुलिंग भी कर सकते हैं. ये एक आयुर्वेदिक पद्धति है, जिसे सुबह खाली पेट किया जाता है. ऑयल पुलिंग करने के लिए शुद्ध नारियल के तेल को 4 से 6 मिनट तक मुंह में रखकर कुल्ला करना होता है. आप नारियल तेल के अलावा तिल के तेल से भी ऑयल पुलिंग कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें- वाराणसी: 2 और जगहों पर ठहरेगी रेल, रेलवे स्टेशन दिखाएंगे बनारसी संस्कृति की झलक

त्रिफला से कुल्ला करें
फेफड़ों को हेल्दी रखने के लिए त्रिफला का प्रयोग कर सकते हैं. एक लीटर पानी में 100 mg त्रिफला को उबाल लें. जब पानी आधा रह जाए, तो 2 चम्मच त्रिफला पाउडर को अपने मुंह में डालें. ऊपर से थोड़ा पानी और डालें और गरारे कर लें. इसके बाद ब्रश कर लें. इसे सुबह खाली पेट करना होता है.

जल नेति करें
इस उपाय को करने से फेफड़ों को स्वस्थ और फिट रखा जा सकता है. जल नेति एक आयुर्वेदिक पद्धति है जिसमें नमक युक्त 2-3 बूंद पानी से नाक के मार्ग को साफ किया जाता है. आप पानी की जगह पर तेल का इस्तेमाल भी कर सकते हैं.

षडबिन्दु तेल का इस्तेमाल करें
आयुर्वेद में नस्य और षडबिन्दु दो चमत्कारिक तेल हैं. इनका इस्तेमाल नाक बंद होने पर साफ करने के लिए उपयोग किया जाता है. विशेषज्ञों की मानें तो जब आप घर से बाहर निकलें तो दो बूंद नाक के दोनों मार्ग में डालें और कुछ देर तक मसाज करें. इसके बाद ही घर से निकलें.

ब्रोकली का सेवन
ब्रोकली यानी हरे रंग की गोभी, फेफड़ों और सांस से जुड़ी दिक्कतों को दूर करने में बहुत अधिक मददगार है. अगर आप सर्दियों के मौसम में ब्रोकली का सेवन सही तरीके से करेंगे तो आपके लंग्स को कोई भी बीमारी छू नहीं पाएगी. आप हर रोज या हर दूसरे दिन ब्रोकली को अलग-अलग तरीके से खा सकते हैं. ब्रोकली को आप सैलेड के रूप में भी खा सकते हैं और सब्जी के रूप में भी.

डिस्क्लेमर: ये लेख आपकी जानकारी बढ़ाने के लिए साझा किया गया है. किसी बीमारी के पेशेंट हैं तो अपने डॉक्टर से सलाह जरूर लें. इन्हें किसी डॉक्टर या मेडिकल प्रोफेशनल की सलाह के तौर पर नहीं लें.

ये भी पढ़ें- अवैध खनन रुकवाने पहुंचे SDM को ट्रैक्टर से कुचलने की कोशिश, हिरासत में आरोपी

ये भी पढ़ें- First Date पर ही कर देंगे ये काम, तो इम्प्रेशन की बजाय झेलना पड़ सकता है Rejection

WATCH LIVE TV




Source link

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *