सर्द मौसम में रखें दिल का पूरा ख्याल, 20 फीसदी बढ़ें हार्ट अटैक के मरीज

Spread the love

सर्दी का मौसम शुरू होते ही राजधानी के अस्पतालों में दिल से जुड़ी बीमारी के मरीजों में 15-20 फीसदी का इजाफा हुआ है। हार्ट फेल, हार्ट अटैक होने से लेकर सीने में दर्द की शिकायत लेकर मरीज अस्पताल में उपचार के लिए पहुंच रहे है। कोरोना काल में डॉक्टर दिल की बीमारी से ग्रसित मरीजों को ज्यादा सावधानी बरतने के लिए कह रहे है। खासतौर पर जिन्हें उच्च रक्तचाप और मधुमेह से जुड़ी समस्या है। 

20 फीसदी तक हार्ट अटैक के मरीज बढ़े 
शालीमार बाग स्थित फोर्टिस अस्पताल के इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजी विभाग के निदेशक डॉ. नित्यानंद त्रिपाठी ने बताया कि सर्दी शुरू होते ही अस्पताल में 15-20 फीसदी मरीज हार्ट अटैक के बढ़े है। जबकि हार्ट फेल होने वालों की संख्या 25 फीसदी है।

इस बार सर्दी का मौसम जल्दी आने से पिछले साल की तुलना में मरीजों का यह फीसद ज्यादा है। जिनको पहले हार्ट अटैक आ चुका है और ब्लॉकेज की समस्या है उन्हें बेहद एहतियात बरतने की आवश्यकता है। सर्दी में दिल के पंप करने की क्षमता कम हो जाती है। जिससे रक्त का प्रवाह प्रभावित होता है और हार्ट फेल हो जाता है। 

उच्त रक्तचाप और मधुमेह की बीमारी वाले रहे ज्यादा सावधान
उन्होंने बताया कि उच्च रक्तचाप और मधुमेह की बीमारी वाले मरीजों का ज्यादा सावधान रहने की जरूरत है। क्योंकि रक्तचाप इस मौसम में बढ़ता है। अपने डॉक्टर की सलाह पर नियमित तौर पर जांच और दवाओं का सेवन जरूर करें। वरना थोड़ी सी लापरवाही से जान तक जा सकती है। 

प्रदूषण भी हार्ट अटैक की वजह
सर गंगाराम अस्पताल के कार्डियोलॉजी विभाग के वरिष्ठ डॉक्टर अश्विनी मेहता ने बताया कि हार्ट अटैक आने के अलग-अलग कारण है। इसमें रक्तचाप का बढ़ना, तापमान में बदलाव होना और बढ़ता प्रदूषण एक मुख्य वजह है।

इस वक्त 18 फीसदी मरीज हार्ट अटैक और सीने में दर्द की शिकायत लेकर अस्पताल में उपचार के लिए पहुंच रहे है। साथ ही कोरोना महामारी के डर से काफी मरीज दिल संबंधी बीमारी होने पर उपचार के लिए आने से हिचकिचा रहे है। जबकि उन्हें उपचार के डॉक्टर का रूख करना चाहिए। 

खान-पान का रखें ख्याल 
डॉक्टरों का कहना है कि इस मौसम में जिन्हें रक्तचाप संबंधी दिक्कत है उन्हें खान-पान में सावधानी बरतने की जरूरत है। जिससे उनका रक्तचाप न बढ़ें। खाने में नमक का सेवन ज्यादा न लें। ऋतु फल जरूर खाएं और नियमित तौर पर शारीरिक व्यायाम घर में रहकर करें। धुम्रपान बिल्कुल न करें बल्कि उसके धुएं से भी दूर रहें। 

सर्दी में गर्म कपड़े पहनने में न बरते लापरवाही 
सर्दी के मौसम में गर्म कपड़े पहनने में कोई लापरवाही न बरतें। सुबह के समय सैर करने से बचें। बुजुर्ग लोगों को ज्यादा सतर्क रहने की जररूत है। 40 से लेकर 60 वर्ष के उम्र के लोग भी अपने स्वास्थ्य को लेकर सचेत रहे क्योंकि ऐसे मौसम में हार्ट अटैक ज्यादा होते है। जिन परिवारों में हार्ट अटैक की कोई इतिहास रहा उनको ओर ज्यादा सावधान रहने की आवश्यकता है।

 

यह भी पढ़ें – वेट लॉस से लेकर तनाव कम करने तक, यहां हैं सब्‍जा सीड्स के सेवन के 6 फायदे

 

 


Source link

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *