सावधान! बिना बनाए खा रहे हैं पैकेटबंद खाना, तो हो सकता है कैंसर

Spread the love

नई दिल्ली:  बदलते लाइफस्टाइल के चलते आजकल फ्रोजन फूड (Frozen Food) और पैक्ड फूड (Packed Food) का चलन काफी तेजी से बढ़ रहा है. ताजे खाने की तुलना में फ्रोजन फूड को सेहत के लिए अच्छा नहीं माना जाता.  लेकिन क्या आप जानते हैं कि ये Frozen Foods हमारी सेहत के लिए कितने खतरनाक हो सकते हैं!  हम इस रिपोर्ट के जरिए आपको बताएंगे कि Frozen Food से हमें क्या-क्या नुकसान हो सकते हैं.

टूरिस्टों के लिए वन क्षेत्रों के अलावा यूपी के पसंदीदा डेस्टिनेशन भी होंगे शामिल

हाइड्रोजेनेटेड पाम ऑयल का इस्तेमाल नुकसानदायक

फ्रोजन फूड (Frozen Foods) में हाइड्रोजेनेटेड पाम ऑयल का इस्तेमाल किया जाता है, जिसमें हानिकारक ट्रांस फैट होते हैं. इसके अलावा इनमें स्टार्च और ग्लूकोज से बने कॉर्न सिरप जैसे प्रिजर्वेटिव Preservative) का इस्तेमाल किया जाता है. 

सोडियम की ज्यादा मात्रा होती है
इस फूड में सोडियम बहुत ज्यादा मात्रा में होता है जिसके चलते शरीर में कई प्रॉब्लम्स हो सकती है. इसके अलावा इनमें स्टार्च और ग्लूकोज से बने कॉर्न सिरप जैसे प्रिजर्वेटिव (Preservative) का इस्तेमाल किया जाता है. इन फूड्स को कभी-कभी खाया जा सकता है लेकिन इसे आदत बनाने से बचना चाहिए. 

Government Jobs: बचे कार्यकाल योगी सरकार देगी सरकारी नौकरी समेत 23लाख युवाओं को रोजगार

डायबिटीज होने की संभावना बढ़ जाती है
फ्रोजन फूड्स को ताजा रखने के लिए स्टार्च का प्रयोग किया जाता है. ये स्टार्च (Strach) खाने में स्वाद बढ़ाने के साथ इसे दिखने में भी अच्छा बनाता है. पचाने से पहले हमारा शरीर इस ग्लूकोज को शुगर में बदल देता है. शुगर की ज्यादा मात्रा डायबिटीज (Diabetes) होने की संभावना बढ़ा देती है. 

दिल की बीमारी का खतरा और बढ़ जाता 
फ्रोजन और प्रोसेस्ड फूड से दिल की बीमारियां होने का खतरा बढ़ जाता है. इन फूड्स में मौजूद ट्रांस फैट्स क्लॉज्ड धमनियों की समस्या बढ़ाते हैं. ट्रांस फैट्स शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल के स्तर को बढ़ाते हैं और अच्छे कोलेस्ट्रॉल को घटाते हैं जिसकी वजह से दिल की बीमारी का खतरा और बढ़ जाता है. 

अत्यधिक कैलोरी
ज्यादातर फ्रोजन फूड के बारे में बताया जाता है कि ये पोषक तत्व से भरपूर होते हैं पर सच है कि ये बॉडी के लिए बहुत हानिदायक होते हैं. फ्रोजन फूड में फैट बहुत ज्यादा पाया जाता है. फैट में कार्बोहाइड्रेट या प्रोटीन की तुलना में दोगुनी मात्रा में कैलोरी होती है. जैसे एक कप फ्रोजन चिकन में लगभग 600 कैलोरी होती हैं, जो आधे से भी ज्यादा फैट से आती हैं. 

कैंसर का बढ़ता है खतरा
बहुत ज्यादा फ्रोजन फूड खाने से कैंसर का खतरा बढ़ सकता है. रिसर्चों से पता चलता है कि फ्रोजन फूड, खासतौर से फ्रोजन मीट खाने से पैनक्रिएटिक कैंसर की संभावना बढ़ जाती है. फ्रोजन हॉट डॉग, मसालेदान नॉनवेज और सॉस खाने से कैंसर का खतर 65 फीसदी तक बढ़ जाता है.

भले ही फ्रोजन फूड आपके लिए बहुत आसानी से उपलब्ध हो जाता है लेकिन इसका ज्यादा सेवन आपके लिए बिलुकल भी फायदा का सौदा नहीं है. ताजे खाने की तुलना में फ्रोजन फूड को सेहत के लिए अच्छा नहीं माना जाता है. तो जितना हो सके इनसे दूरी बनाकर रखें, ये आपकी सेहत के लिए उतना ही अच्छा होगा.

ये जानकारी केवल सामान्य जानकारी देती  है. ये किसी भी तरह से डॉक्टर की सलाह नहीं मानी जाए. अधिक जानकारी के लिए हमेशा किसी  चिकित्सक से परामर्श करें.

खाने में शामिल करें ये 6 चीजें, फिर देखिए कैसे बढ़ता है टेस्टोस्टेरॉन हार्मोन

WATCH LIVE TV




Source link

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *