AstraZeneca द्वारा वैक्‍सीन ट्रायल के अस्‍थायी निलंबन पर आया WHO का बयान

Spread the love

नई दिल्‍ली: विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने बुधवार को घोषणा की है कि AstraZeneca और ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी द्वारा साथ मिलकर किए जा रहे COVID-19 वैक्‍सीन ट्रायल का ‘अस्‍थायी निलंबन’ असामान्‍य नहीं है. यह घोषणा उन खबरों के बाद आई है, जिनमें वैक्‍सीन ट्रायल से एक व्यक्ति में बीमारी विकसित होने की बात कही गई है. हालांकि इस व्‍यक्ति को किस तरह की अस्‍वस्‍थ्‍ता हुई है, इस बारे में नहीं बताया गया है. 

डब्ल्यूएचओ ने यह भी कहा है कि टीकों के ‘क्लिनिकल ट्रायल में सुरक्षा सर्वोपरि है’, और किसी भी प्रतिभागी में अस्पष्ट बीमारी के कारण का पता लगाने के लिए यह निलंबन सामान्‍य है.

यह भी पढ़ें: रूस, भारत, चीन के विदेश मंत्री करेंगे मास्को में मुलाकात: चीनी विदेश मंत्रालय

बता दें कि एस्ट्राजेनेका ने बुधवार को अपने संभावित कोरोना वायरस वैक्सीन के ग्‍लोबल ट्रायल्‍स को रद्द कर दिया है. इससे इस ब्रिटिश ड्रगमेकर के शेयरों में गिरावट आई है. साथ ही इसकी वैक्सीन के अब जल्‍द ही बाजार में आने की संभावनाएं भी कम हो गईं हैं. डब्ल्यूएचओ ने कहा है, ‘हम यह देखकर खुश हैं कि वैक्सीन डेवलपर्स ट्रायल्‍स को लेकर बेहद सजग हैं. वे वैक्‍सीन डेवलप करने के मानक दिशानिर्देशों और नियमों का पालन पूरी ईमानदारी से कर रहे हैं.’ 

ऑर्गेनाइजेशन ने ‘वॉलेंटियर्स की सुरक्षा और वैक्‍सीन के ज्‍यादा से ज्‍यादा प्रभावी होने के लिए सभी प्रोटोकॉल का सख्‍ती से पालन’ करने का भी आग्रह किया है. 

यह महामारी आखिरी नहीं है 

विश्व स्वास्थ्य संगठन के प्रमुख टेड्रोस एडहोम घेब्रियेसिस ने सोमवार को कहा था कि दुनिया को खुद को एक और महामारी के लिए तैयार करना होगा. इतना ही नहीं इस बार तैयारी बेहतर होनी चाहिए. साथ ही उन्होंने सभी देशों से सार्वजनिक स्वास्थ्य में निवेश करने का आग्रह भी किया था.

जिनेवा में एक समाचार ब्रीफिंग के दौरान टेड्रोस ने कहा, ‘यह अंतिम महामारी नहीं होगी. इतिहास हमें सिखाता है कि प्रकोप और महामारी जीवन का एक अंग हैं. लिहाजा जब भी अगली महामारी आए तो दुनिया को तैयार रहना चाहिए. बल्कि इस बार की तुलना में अधिक तैयार रहना चाहिए.’ 

टीकाकरण को लेकर शुक्रवार को विश्व स्वास्थ्य संगठन ने कहा था कि उसे उम्‍मीद नहीं है कि अगले साल के मध्य तक कोविड -19 के खिलाफ व्यापक टीकाकरण हो पाएगा. वह किसी भी संभावित टीके की प्रभावशीलता और सुरक्षा पर कड़ी जांच का महत्‍वपूर्ण मानता है. WHO की प्रवक्‍ता मार्गरेट हैरिस ने कहा था, ‘ हम वास्तव में अगले साल के मध्य तक व्यापक टीकाकरण होने की उम्मीद नहीं कर रहे हैं.’ 

LIVE टीवी:




Source link

You may also like...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *